दिल तेरा आशिक : मूवी रिव्यु

भोजपुरी सिनेमा के चाकलेटी हीरो राकेश मिश्रा, भोजपुरिया दर्शकों के लिए नया नाम नहीं हैं . अपनी गायकी से दर्शकों का मन मोह लेने वाले राकेश मिश्रा ने भोजपुरी की कई सफल फिल्मे की हैं. भोजपुरी फिल्म ‘दिल तेरा आशिक’ उनके फिल्मो की गिनती में महज एक और संख्या जोड़ता है . जब फिल्मे सिर्फ बनाने के लिए बन ती हों तो सिवाय निर्माता-निर्देशक के जज़्बे की ही तारीफ हो, तो बेहतर है . Watch DIL TERA AASHIQ Movie Review and Trailer below.

भोजपुरी फिल्म ‘दिल तेरा आशिक’ इसी जज्बे का एक नाम है. फिल्म की मुख्य भूमिका में पूनम दुबे, राकेश मिश्र , उमेश सिंह और अनूप तिवारी हैं . इसके साथ ही सीमा सिंह और ग्लोरी मोहंता के कुछ अधनंगे इरोटिक गाने भी है . फिल्म में गाड़ी लोड हो गईल , साजन तोहरे बहियाँ में , दिल तोहरा आशिक जैसे कई गाने हैं लेकिन एक-आध गाने को छोड़ बाकि काम चलाऊ है . फिल्म का संगीत है अतुल कुमार मिश्र का जबकि इसके गीतों को लिखा है मुन्ना दुबे एवं गोविन्द विद्यार्थी ने .

DIL TERA AASHIQ : Movie Review

कॉपी-पेस्ट की तकनीक ने जितना भोजपुरी फिल्मो का नुकसान किया है शायद ही किसी और क्षेत्रीय फिल्मो की हुयी हो . अगर फिल्म ‘दिल तेरा आशिक’ की बात करें तो कुछ समय पहले आयी भोजपुरी अभिनेता प्रमोद प्रेमी यादव की फिल्म ‘प्रेमी ऑटो वाला‘ की बहुत हद तक यह नक़ल लगती है . खासकर अगर इसके मूल कहानी को देखें तो . अतुल , संजीत और पुनम ने फिल्म की कहानी को एक पटकथा का रूप दिया है लेकिन फिर भी खालीपन खलता है . फिल्म के कई सीक्वेंस का फिल्मांकन बिना मतलब के फिल्माया लगता है .

एक ऑटो चालक का बड़े घर की लड़की से प्यार हो जाना, प्यार पर बवाल होना, चाहे प्रेमी-प्रेमिका एक हो या फिर उनका सोनी-महिवाल हो जाना, लाज़िमी है . और यही इस फिल्म की कहानी भी है. फिल्म को जबरदस्ती लंबा खींचने की तकनीक उबाउपन लाती है. देसी टाइप की मारपीट बेवजह का झगडा प्रतीत होता है . राकेश मिश्र का अभिनय बेजान लगता है , पूनम दुबे बॉलीवुड की दूसरी पूनम पाण्डेय नज़र आती है लेकिन उमेश सिंह अपने किरदार व अभिनय से न्याय करते नज़र आते हैं.

प्यार समता और समभाव है लेकिन हमारी फिल्म इंडस्ट्री अक्सर इसे अमीर-गरीब , ऊँच-नीच के बाहर देखना ही नहीं चाहती . वैसे भी अगर मनोविज्ञान की माने तो हमें उसी चीज़ से प्यार होता है जो हमारी पहुँच के बाहर हो . इस तर्क के अनुसार निर्देशक अतुल कुमार मिश्र सही हैं जो इस फिल्म के निर्माता भी हैं . अगर आप इस फिल्म से कुछ सीखना समझना चाहते हैं तो निराशा मिलने की भरपूर आशा है . लेकिन इसके बावजूद हर फिल्म कुछ न कुछ कहता है इस फिल्म में एक दिल है और उसका आशिक भी .

DIL TERA AASHIQ : Movie Triler